Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्यग्रामीण भारतप्रादेशिकराजधानीराजनीति

राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने स्वतंत्रता दिवस पर किया ध्वजारोहण और किया मुख्यमंत्री के संदेश का किया वाचन

nishpaksh samachar

दमोह : जिले में 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस समारोह उत्साह पूर्वक मनाया गया। जिला मुख्यालय के तहसील ग्राउण्ड पर आयोजित जिला स्तरीय मुख्य समारोह में मुख्य अतिथि जिले के प्रभारी मंत्री तथा प्रदेश के राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने ध्वजारोहण किया। उन्होंने हर्षोल्लास के प्रतीक गुब्बारे छोड़े। प्रभारी मंत्री ने कलेक्टर एस.कृष्ण चैतन्य, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवकुमार सिंह के साथ परेड की सलामी ली । इस अवसर पर राष्ट्रगान गाया गया। कार्यक्रम कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुये सम्पन्न हुआ।           

जिले के प्रभारी मंत्री राजपूत ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का प्रदेश की जनता के नाम संदेश का वाचन किया । मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर सभी प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। आज भारत स्वतंत्रता के 75 वे वर्ष में प्रवेश कर रहा है। आजादी का यह अमृत-महोत्सव भारत के गौरवशाली इतिहास, वैभवशाली वर्तमान और शक्तिशाली भविष्य के निर्माण का उत्सव है। भारत की आजादी का यह 75 वां वर्ष लोकतंत्र के महोत्सव का वर्ष है, अमर शहीदों के प्रति कृतज्ञता का वर्ष है, देश के लिए कुछ कर गुजरने का वर्ष है, भारत की एकता और अखंडता के प्रति समर्पण का वर्ष है, एक भारत-श्रेष्ठ भारत के संकल्प की सिद्धि का वर्ष है। हम सब मिलकर आजादी का यह अमृत महोत्सव पूरे उत्साह, उल्लास के साथ मनाएंगे। राज्य सरकार वर्ष भर जन-जन को देशभक्ति, देशप्रेम और देशसेवा के भावों से भरने वाले कार्यक्रमों का आयोजन करेगी।

पिछले साल जब सारे विश्व को कोरोना संक्रमण ने अपनी चपेट में लिया, तब सरकार के अथक प्रयासों और जनता के सहयोग से हमने कोरोना की पहली लहर से जंग जीती। पहली लहर के बाद लगा कि कोरोना समाप्त हो गया है, लेकिन कोरोना इस वर्ष फिर बदले स्वरूप में आया। कोविड प्रबंधन के लिए हमारी रणनीति के 05 स्तम्भ हैं- आईडेन्टीफिकेशन, टेस्टिंग, आईसोलेशन, ट्रीटमेंट एवं वैक्सीनेशन। सुनियोजित रणनीति, त्वरित निर्णय और साझे प्रयासों के चलते मध्यप्रदेश, कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर नियंत्रण पाने में भी सफल रहा है।

अधोसंरचना विकास का आधार है। प्रदेश में वर्ष 2024-25 तक सिंचाई क्षमता को 65 लाख हेक्टेयर तक ले जाने का लक्ष्य है। नर्मदा घाटी विकास परियोजनाओं के माध्यम से 2020-21 में 5 लाख 70 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई गई है। नर्मदा कछार में लगभग 26 हजार करोड़ रुपए की लागत से करीब साढ़े 5 लाख हेक्टेयर में 10 सिंचाई परियोजनाओं के निर्माण की दिशा में कदम बढ़ाए गए हैं।

इस मौके पर प्रभारी मंत्री राजपूत ने मुख्य समारोह में उत्कृष्ठ कार्य करने वालों में कोविड-19 तथा न्यायालयीन कार्यो में उत्कृष्ट कार्य करने पर अपर कलेक्टर नाथूराम गौड़, विधानसभा उप चुनाव, राजस्व, कोविड-19 में उत्कृष्ट कार्य करने पर अनुविभागीय अधिकारी राजस्व दमोह राकेश मरकाम, विधानसभा उपचुनाव कोविड-19 के लिये तहसीलदार दमोह डॉ बबीता राठौर, कोविड-19 में उत्कृष्ट कार्य करने के लिये मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी दमोह डॉ संगीता त्रिवेदी, कोविड-19 में उत्कृष्ट कार्य करने के लिये जिला महिला एवं बाल विकास अधिकारी दमोह प्रदीप राय, शासन की योजनाओं में उत्कृष्ट कार्य के लिये लीड बैंक अधिकारी राजेन्द्र कुमार जैन और आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य में सीएसआईआर मद से सराहनीय कार्य करने पर हाईडलवर्ग सीमेंट, स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने हेतु अजीम प्रेमजी फाउंडेशन, स्वास्थ्य के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने हेतु पीरामल फाउंडेशन तथा जिला चिकित्सालय दमोह में ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने में उत्कृष्ट कार्य के लिये भारत पैट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड  को प्रतीक स्वरूप प्रमाण पत्र वितरित कर सम्मानित किया गया।

Related posts

स्कूलों का शीतकालीन अवकाश निरस्त

Nishpaksh

संभाग स्तरीय लेदर बॉल ट्राफी का आयोजन

Nishpaksh

कुंडलपुर के रूक्मणि मठ में हुआ सुंदरकांड पाठ और भव्य आरती

Nishpaksh

Leave a Comment