Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्यग्रामीण भारतताज़ा खबर

वर्षों से सड़क के लिए गुहार लगा रहे ग्रामीणों की नहीं सुन रहे जिम्मेदार, सीएम हेल्पलाइन में दर्ज कराई शिकायत

पथरिया तहसील के गांव बिलानी में लोग कच्ची सड़क के लिए परेशान हो रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में सड़क न होने की वजह से गांव वालों को विपरीत परस्थितियों का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों की मानें तो सड़क को लेकर वे कई बार सरपंच और सचिव से गुहार लगा चुके हैं लेकिन उनकी तरफ से किसी भी प्रकार की कोई मदद नहीं की गई।

पथरिया: सड़क जो कि हर तरह के जीवन के लिए मूल सुविधाओं में से एक है जब हम कहते हैं ग्रामोदय से भारत उदय यह वाक्य ग्रामीण क्षेत्रों को शहर की ओर ले जाने को बल देने के लिए होता है। लेकिन पथरिया विधानसभा अंतर्गत आने वाले कई ग्रामीण क्षेत्रों में सड़क ही नही है ऐसे में उनका जीवन एक कुएं के मेंढक के समान हो गया है।

हम बात कर रहे हैं पथरिया से 6 किलोमीटर दूर ग्राम बिलानी की जहाँ शहर तक के लिए तो सड़क है लेकिन गांव के अंदर कोई सड़क  नहीं है। कई वर्षों से गांव के लोग कच्चे रास्ते का इस्तेमाल कर रहे हैं जो कि नाले में तब्दील हो चुका है। दरअसल गांव बिलानी में ग्रामीणों को सड़क तो है ही नही ऐसे में नालियों का होना एक कोरी कल्पना ही है। लिहाजा घरों से निकलने वाला पानी पूरी सड़क पर बहता है जिससे सड़क की स्थिति एक बड़े नाले जैसी हो गई है।

गांव के मुख्य सड़क की स्थिति नाले जैसी

वर्षो से सड़क और नाली के न होने से लोगो को बदबूदार खड्डेनुमा सड़क का सहारा लेना होता है जहां पैदल चलना तो दुर्लभ है ही वहीं वाहन निकलने से दुर्घटना भी होती रहती है। ग्रामीणों का कहना है कि सड़क के बाजू से जिन लोगों के मकान बने हैं उन्हें इसी बदबू के साथ कई सालों से रहना पड़ रहा है। सरपंच सचिव को कई बार शिकायत की लेकिन समस्या का समाधान नहीं हो सका।

बिलानी गांव में सड़क के हाल
बिलानी गांव में सड़क के हाल
सीएम हेल्पलाइन में दर्ज की शिकायत

प्रशासन और जनप्रतिनिधियों की मनमर्जी पंचायत में इस कदर हावी है कि बिलानी गांव के लोगों को 6 किलो मीटर सड़क निर्माण के लिए सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करनी पड़ी। हालांकि ग्रामीणों की शिकायत अभी तक कोई हल नहीं निकल सका है और स्थिति जस की तस बनी हई है।

पाइप लाइन में रिसाव से सड़क में जल जमाव 

ग्रामीणों ने बताया कि हफ्ते भर पहले पानी सप्लाई वाली लाइन का पाइप फूट जाने से खड्डे दार सड़क ने तालाब का रूप ले लिया एवं यहाँ निकलना बड़ी मसक्कत भरा काम होता है। वहीं हफ्ते भर से फूटी डली पानी की पाइप लाइन की सुध भी जिम्मेदारों नही ली गई न ही पाइप लाइन सुधरी न ही हफ्ते भर से गांव के लोगों को पानी मिला। एक ओर सड़क में बह रहा पानी तो वही दूसरी ओर बरसात के मौसम में भी ग्रामीणों के कंठ सूखे हैं।

बिलानी गांव में सड़क के हाल
बिलानी गांव में सड़क के हाल
ग्रामीणो ने क्या कहा

सड़क जैसी मूल समस्या से जूझ रहे बिलानी गांव के लोगों ने बताया कि गड्ढे वाली सड़क में जलभराव से गांव में बीमारियां फेल रही हैं। ग्रामीण देवकीनंदन उपाध्याय ने बताया कि सड़क न होने ओर बारह मासी जल भराव से फिसलन बहुत बढ़ गई है यही कारण है कि आये दिन हादसे होते रहते हैं। ग्रामीण बेनीप्रसाद अठ्या ने बताया की सड़क के किनारे घर है लेकिन बदबूदार जलभराव के कारण भोजन तक ठीक से नही कर पाते आना जाना भी बाधित रहता है। वहीं बहीव खान, कुसुम रानी यादव, राहुल उपाध्यय ने बताया कि सड़क और नाली न होने घरों के कारण पानी बह रहा है वहीं पिछले दिनो पाइपलाइन फुट जाने से भी जलभराव जैसी स्थूति निर्मित हुई है जिससे ग्रामीण परेशान हैं।

जिम्मेदार नहीं उठा रहे फोन

वहीँ उक्त मामले में सरपंच काशीराम पटेल का कहना है कि सचिव की सहमति न मिलने से रुका है काम मेरी पूर्ण सहमति है रोड बने लेकिन सचिव कार्यवाही आगे नही बढ़ाते। जब हमने सीईओ आशीष अग्रवाल से बात करनी चाही तो उन्होंने फोन रिसीव नही किया।

Related posts

पर्यटन एवं वन विभाग के आपसी समन्वय से राहतगढ़ वाटरफॉल में किये जाएँगे विकास कार्य -प्रमुख सचिव शुक्ला

Nishpaksh

अनलॉक लापरवाही की आजादी नहीं

Nishpaksh

बड़े-बड़े देशों में नौकरी छूट रही और हमारे यहां युवाओ को रोजगार मिल रहे हैं- राहुल सिंह

Nishpaksh

Leave a Comment