Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्यग्रामीण भारतघटनाक्रमताज़ा खबरप्रादेशिकराजधानीराजनीतिराष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय समाचार

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा रखी जायेगी विकास कार्यों की आधारशिला

इंडियन ऑइल फाउंडेशन की वित्तीय सहायता से सिंगोरगढ़ किले के संरक्षण एवं पर्यटकों के ज्ञानवर्धन हेतु व्याख्या केंद्र तथा आधुनिक शौचालय, पार्किंग, जलपान गृह, विश्राम स्थल जैसे विकास कार्यों की आधारशिला राष्ट्रपति के करकमलों द्वारा रखी जायेगी

दमोह : भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के विभाग भारतीय पुरात्तत्व सर्वेक्षण के द्वारा राष्ट्रीय सांस्कृतिक निधि के माध्यम से प्राप्त इंडियन ऑइल फाउंडेशन की वित्तीय सहायता से सिंगोरगढ़ किले के संरक्षण एवं किले पर आने वाले पर्यटकों के ज्ञानवर्धन हेतु व्याख्या केंद्र तथा आधुनिक शौचालय, जलपान गृह, विश्राम स्थल एवं वाहन पार्किंग जैसी जन सुविधाओ के विकास कार्यों की आधारशिला भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के करकमलों द्वारा रखी जा रही है। इसके अतिरिक्त इंडियन ऑइल फाउंडेशन के मद से रानी दुर्गावती अभ्यारण्य मे निदान जल प्रपात, नज़ारा व्यू पॉइंट, इत्यादि स्थलों पर भी  हरित क्षेत्र, नेचर ट्रेल के साथ ही साथ विभिन्न प्रकार की जन सुविधाओं के विकास कार्यक्रम भी आज ही प्रारंभ किए जा रहे हैं।

केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल की प्रेरणा से बुंदेलखंड, बघेलखंड एवं महाकोशल क्षेत्रों मे स्थित पुरातात्त्विक संपदा के बेहतर संरक्षण के उद्देश्य से हाल ही मे भारतीय पुरातत्त्व सर्वेक्षण का जबलपुर मे एक नया मण्डल गठित किया गया है। यह सौभाग्य का विषय है कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के कर कमलों द्वारा यह नवगठित मण्डल लोकार्पित किया जा रहा है ।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दमोह जिले में 07 मार्च के आगमन को लेकर चल रही सभी प्रशासनिक तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। इससे पूर्व कोविंद कल जबलपुर पहुंचेंगे। वहां कार्यक्रमों में शिरकत करने के बाद 07 मार्च को दमोह आयेंगे।

कलेक्टर तरूण राठी ने कहा है कि राष्ट्रपति का मध्यप्रदेश में दो दिवसीय दौरा है, जिसमें 06 मार्च को जबलपुर और 07 मार्च को दमोह जिले के सिंग्रामपुर में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस दौरान राष्ट्रपति सिंगोड़गढ़ के किले का 26 करोड़ रूपये की लागत से होने वाले जीर्णोद्धार कार्यक्रम का भूमिपूजन तथा आदिवासी समाज के जनजातीय नागरिकों से भेंट के अलावा रानी दुर्गावती की मूर्ति पर माल्यापर्ण भी करने जायेंगे।

जिले में राष्ट्रपति का लगभग 04 घंटे का कार्यक्रम आयोजित किया गया है। इस आयोजन के लिए सभी प्रकार की प्रशासनिक तैयारियां पूरी कर ली गई है तथा प्रदेश के विभिन्न जिलों से पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम को भी तैनात रहेंगी। आयोजन के लिए दिल्ली भोपाल के साथ-साथ जिले के अधिकारियों द्वारा भी लगातार ही सत्‌त निगरानी रखी जायेगी।

कार्यक्रम अध्यक्षता मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, केंद्रीय राज्य मंत्री इस्पात मंत्रालय भारत सरकार फग्गन सिंह कुलस्ते, जनजाति कार्य विभाग मंत्री मीना सिंह मांडवे, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह के विशिष्ट आतिथ्य में तथा अन्य जनप्रतिनिधियों की गरिमामय उपस्थिति में जीर्णोद्धार एवं पर्यटक सुविधाओं के विकास कार्यों का शिलान्यास किया जाएगा।

Related posts

जिले के प्रत्येक पात्र हितग्राही अपना आयुष्मान कार्ड बनवा लें.कलेक्टर तरूण राठी

Nishpaksh

शिवराज का मास्टर स्ट्रोक बीजेपी को पड़ा भारी, निगम में 7 सीटों का नुकसान

Nishpaksh

मध्यप्रदेश:पंडित धीरेंद्र शास्त्री ने हाथ जोड़कर मांगी माफी, संत तुकाराम पर कही थी ये बात

Admin

Leave a Comment