Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्यक्राइमग्रामीण भारतघटनाक्रमताज़ा खबरप्रादेशिकराजधानीराजनीति

तहसीलदार बबीता राठौर की कार्यशैली को लेकर जताई आपत्ति, उधर कमिश्नर ने मांगा स्पष्टीकरण

nishpaksh samachar

छल कपट पूर्वक बेशुमार संपत्ति अर्जित करने पर सागर कमिश्नर ने मांगा स्पष्टीकरण, आवैधानिक रूप से कृषि भूमियों का क्रय-विक्रय करने पर तहसीलदार बबीता राठौर और उनके पति प्रभात मिश्रा को देना होगा स्पष्टीकरण

दमोह – विगत दिनों दमोह तहसीलदार बबीता राठौर द्वारा ब्राह्मण समाज के एक प्रतिष्ठित व्यक्ति के यहां जाकर उसका निर्माण तोड़ने का प्रयास किया ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधि मंडल ने ज्ञापन सौंपकर आपत्ति जताई कि कमिश्नर द्वारा जारी स्थगन आदेश पेश किये जाने पर तहसीलदार द्वारा उसे मानने से इनकार करते हुए उल्टे पीड़ित पक्ष पर एफआईआर करने की धमकी दी गई जिसे व्यथित होकर ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधि मंडल ने जाकर कलेक्टर के चुनाव ट्रेनिंग में व्यस्त होने पर कलेक्टर अधीक्षक के माध्यम से एक ज्ञापन सौंपा।

उल्लेखनीय है कि, इससे कुछ दिनों पहले सागर संभाग के कमिश्नर मुकेश शुक्ला ने दमोह तहसीलदार बबीता राठौर एवं उनके पति जिला चिकित्सालय पन्ना के काउंसलर प्रभात मिश्रा से अपने पद का दुरुपयोग कर कृषि भूमियों का आवैधानिक रूप से क्रय-विक्रय करने तथा छल कपट पूर्वक बेशुमार संपत्ति अर्जित करने पर 7 दिवस में स्पष्टीकरण मांगा है। सागर कमिश्नर ने उक्त कार्यवाही मध्यप्रदेश सिविल सेवा नियम के तहत की है।

कमिश्नर श्री शुक्ला ने कहा है कि दमोह तहसीलदार बबीता राठौर एवं उनके पति जिला चिकित्सालय पन्ना के काउंसलर प्रभात मिश्रा अपना स्पष्टीकरण पत्र प्राप्ति के 7 दिवस के भीतर कमिश्नर कार्यालय में अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करें, अन्यथा उनके विरूद्ध एकपक्षीय कार्यवाही की जाएगी।

Related posts

दमोह उपचुनाव 2021– भाजपा खेमे में स्थानीय और बाहरी को लेकर हाथापाई

Nishpaksh

वीरांगना रानी अवंतीबाई लोधी का जीवन संघर्ष हर भारतीय के लिए प्रेरणा स्रोत- प्रहलाद सिंह पटेल

Nishpaksh

महाराष्ट्र का लोकतंत्र: हिंदुत्व का, हिंदुत्व द्वारा, हिंदुत्व के लिए..!

Nishpaksh

Leave a Comment