Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्यग्रामीण भारतताज़ा खबरनारद की नज़रप्रादेशिकराजधानीराजनीति

नगरों की प्लानिंग में ठेले और छोटे व्यवसाय करने वालों के लिए स्थान हो – मुख्यमंत्री चौहान

nishpaksh samachar

शहरों में स्वच्छता और व्यवस्था चाहिए, पर गरीब की रोजी-रोटी का इंतजाम जरूरी
24 नगरों में 1056 करोड़ रुपये की लागत के 69 विकास कार्य लोकार्पित
402 नगरीय निकायों को 299.40 करोड़ की राशि अंतरित
मुख्यमंत्री चौहान ने जन-कल्याण और सुराज अभियान के अंतर्गत नगरीय विकास पर
आयोजित कार्यक्रम को किया संबोधित

निष्पक्ष समाचार : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शहरों में स्वच्छता और व्यवस्था चाहिए, पर गरीब की रोजी-रोटी का सही इंतजाम सर्वोपरि है। शहरों में उद्योग स्थापित हों पर इसके साथ ही हाथठेला वालों के लिए भी उचित व्यवस्था हो। शहरों की प्लानिंग में छोटे-छोटे व्यवसाय करने वालों, ठेले वालों के लिए स्थान निर्धारित किया जाना आवश्यक है।

मुख्यमंत्री चौहान नगरीय विकास एवं आवास विभाग द्वारा जन-कल्याण और सुराज अभियान में प्रदेश के 24 नगरों में 1056 करोड़ रुपये की लागत से किए गए 69 विकास कार्यों के मिंटो हॉल में आयोजित वर्चुअल लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री चौहान ने कार्यक्रम में 15वें वित्त आयोग की 299.40 करोड़ की राशि का सिंगल क्लिक से 402 नगरीय निकायों को वितरण किया। लोकार्पित कार्यों में सीवरेज परियोजना, पेयजल योजना, बस स्टेण्ड विकास, कमर्शियल कॉम्पलेक्स, उद्यानों का विकास, ट्रेफिक मैनेजमेंट, लायब्रेरी, शाला भवन, सोलर एनर्जी और प्रधानमंत्री आवास योजना में निर्मित आवास परिसर शामिल हैं। 15वें वित्त आयोग के अंतर्गत नगरीय निकाय जारी ग्रांट का उपयोग स्वच्छता, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, पेयजल पूर्ति, और जल संरक्षण पर करेंगे।

407 नगरीय निकाय कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़े – कार्यक्रम कन्या-पूजन और मध्यप्रदेश गान के साथ आरंभ हुआ। केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते, वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह, चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा, विधायक कृष्णा गौर, प्रमुख सचिव नगरीय विकास मनीष सिंह कार्यक्रम में उपस्थित थे। प्रदेश के सभी 407 नगरीय निकाय कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़े। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने विभागीय गतिविधियों तथा भविष्य की योजनाओं के संबंध में जानकारी दी।

प्रधामनंत्री नरेन्द्र मोदी के सपनों का भारत बनाना है – मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि स्वच्छ भारत, स्मार्ट सिटी, अमृत योजना, पीएम आवास तथा पीएम स्वनिधि जैसी योजनाओं ने नगरीय विकास को नए आयाम और नई गति प्रदान की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपनों का भारत निर्माण हम सभी की जिम्मेदारी है। प्रदेश में नगरीय विकास की योजनाओं के क्रियान्वयन के सुखद परिणाम अब सामने आने लगे हैं।

माफिया से मुक्त कराई गई जमीनों पर गरीबों के मकान बनाए जाएंगे – मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति के लिए आवास एक बड़ी जरूरत है। हमने संकल्प लिया है कि झुग्गीमुक्त शहरों के लिए हरंसभव प्रयास किया जाएगा। प्रत्येक व्यक्ति की अपनी पक्की छत हो, इस दिशा में राज्य सरकार निरंतर सक्रिय है। माफिया से मुक्त कराई गई जमीनों पर गरीबों के मकान बनाए जाएंगे।

सीवेज या जलापूर्ति कार्य से खुदी सड़कों को तत्काल सुधारा जाए – मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पिछले 15 सालों के प्रयासों से शहरों के स्वरूप में बदलाव आया है। शहरों में व्यवस्थित जलापूर्ति परियोजनाएँ पूर्ण की गई हैं। सीवरेज प्रणाली को विकसित कर कार्यशील बनाया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना में लगभग 58 हजार आवास शहरी गरीबों के लिए बनाए गए हैं। शहरों में रात्रिकालीन आश्रय स्थलों और दीनदयाल रसोई योजना की व्यवस्था की गई है। मुख्यमंत्री चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन शहरों में सीवेज या जलापूर्ति के कार्य के संबंध में सड़कों की खुदाई हो, वहाँ सड़कों को तत्काल सुधारना सुनिश्चित किया जाए।

मूलभूत सुविधाएँ नहीं देने वाले बिल्डरों पर कठोर कार्रवाई होगी – मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि आम नागरिकों को राहत देने की दृष्टि से सभी अवैध कॉलोनियों के नियमितिकरण की व्यवस्था की गई है। वर्तमान में बन रही कॉलोनियों तथा भविष्य में बनने वाली कॉलोनियों में जो बिल्डर मूलभूत सुविधाएँ नहीं देगा, उनके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी। सम्पत्ति कर और जल दर के संबंध में भारत सरकार के निर्देशानुसार आवश्यक संशोधन किए गए हैं।

मुख्यमंत्री चौहान ने की कोरोना और डेंगू से सजग रहने की अपील – मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कोरोना की कठिन परिस्थितियों के बाद भी नगरीय विकास की गतिविधियों को प्रभावित नहीं होने दिया गया। कोरोना नियंत्रण में है, पर अभी भी प्रदेश में कुछ केस मिल रहे हैं। अत: निरंतर सतर्कता आवश्यक है। हाल ही में फैल रहे डेंगू का मूल कारण स्वच्छता और जल जमाव है। मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों से डेंगू से बचाव के उपायों का निरंतर पालन करने की अपील की।

टीकाकरण महाअभियान 27 सितम्बर को – मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि प्रदेश की शहरी जनसंख्या के 85 प्रतिशत लोगों को टीके का पहला डोज़ लग चुका है। टीकाकरण महाअभियान 27 सितम्बर को पुन: आयोजित किया जा रहा है। जिन लोगों को अभी टीका नहीं लगा है वे स्वयं अनिवार्य रूप से टीका लगवाएँ और अपने परिजनों और परिचितों का भी टीकाकरण सुनिश्चित करें।

Related posts

सड़क दुर्घटना का शिकार दो आरक्षक की मौत, तीन घायल

Nishpaksh

दमोह: कोरोना काल में मरीज के परिजनों से मनमाने दाम वसूलने वाले एंबुलेंस चालकों पर हो सकती है कार्रवाई

Nishpaksh

दमोह विधायक अजय टंडन को जिनके मिल चुके जवाब, कहा फिर लगाए हैं सवाल

Nitin Kumar Choubey

Leave a Comment