Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्य

परिवहन एवं राजस्व विभाग की योजनाओं के क्रियान्वयन से प्रदेश को मिलेगा नया स्वरूप: गोविंद सिंह राजपूत

Govind Singh Rajput

परिवहन एवं राजस्व विभाग की योजनाओं के क्रियान्वयन से प्रदेश को मिलेगा नया स्वरूप-मंत्री राजपूत

भोपाल – परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविन्द सिंह राजपूत ने कहा कि प्रदेश में राजस्व विभाग द्वारा शीघ्र ही कोर्स पद्धति से जमीन का सीमांकन 31 मार्च से प्रारंभ किया जायेगा। इसके लिए पायलट प्रोजेक्ट के रूप में भोपाल, हरदा, सीहोर एवं देवास जिलों का चयन किया गया है। राजस्व मंत्री ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के सपने को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई में मध्यप्रदेश की धरती पर साकार स्वरूप प्रदान करेंगे।

कोर्स पद्धति से भूमि का सटीक सीमांकन

मंत्री राजपूत ने बताया कि अभी तक जमीन का सीमांकन अवधि-विशेष में जैसे खड़ी फसल एवं बरसात आदि परिस्थितियों के मौसम में नहीं हो पाता था परंतु कोर्स (CONTINUOSLY OPRETING REFRENCE STATION) पद्धति के माध्यम से भूमि का सीमांकन एवं मानचित्रण का काम अब 12 महीने हो सकेगा। इसके पूर्व जरीब एवं टोटल स्टेशन मशीन द्वारा सीमांकन का काम किया जाता रहा है। उक्त दोनों ही माध्यमों से सीमांकन में काफी परेशानी आती रही है। इससे समय की बचत के साथ खराब मौसम एवं बोई फसल के समय भी सीमांकन किया जा सकता है।

स्वामित्व योजना

राजस्व मंत्री ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों के आबादी क्षेत्र में निवासरत लोगों की यह एक गंभीर समस्या है कि वे कई वर्षों से अपने मकान में रहने के बाद भी उनके पास उस मकान का स्वामित्व का अधिकार नहीं था, जिसके कारण वे अपने मकान पर बैंक आदि से लोन नहीं ले सकते थे। इस समस्या के समाधान के लिए “स्वामित्व योजना” प्रारंभ की गई। इस योजना के तहत आबादी सर्वे से गाँव की संपत्तियों का अधिकार अभिलेख, कब्जाधारी को भूमि स्वामी का प्रमाण-पत्र, बैंक लोन, संपत्ति के बंटवारे एवं विक्रय के साथ पारिवारिक संपत्तियों के विवाद भी कम होंगे। इस योजना में प्रदेश के 51 हजार गाँव शामिल किये गये हैं।

बस स्टैण्ड होंगे सर्व-सुविधायुक्त

परिवहन मंत्री ने कहा कि प्रदेश के बस स्टैण्ड अभी परिवहन विभाग के अंतर्गत नहीं होने के कारण परिवहन विभाग यात्रियों को आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध नहीं करवा पाता। बस स्टैण्ड नगरीय एवं शहरी विकास विभाग के अधीन होने के कारण उन्होंने मुख्यमंत्री से स्टैण्ड का संचालन परिवहन विभाग को सौंपे जाने के संबंध में चर्चा की है। उन्होंने कहा कि बस स्टैण्ड्स को ओर अधिक सुविधाजनक बनाया जायेगा। बस स्टैण्ड शहर एवं गांव की पहचान होते हैं, जहाँ से हजारों यात्री प्रतिदिन गुजरते हैं।

टैक्सियों में लगेंगे पेनिक बटन

मंत्री ने कहा कि व्हीकल लोकेशन ट्रेकिंग सिस्टम के माध्यम से प्रदेश में चलने वाली टैक्सियों एवं बसों में यात्री निर्भय होकर यात्रा कर सकें, इसके लिए भोपाल में कमांड कंट्रोल स्थापित किया जायेगा। इसके लिए प्रदेश की टैक्सी एवं बसों में पेनिक बटन लगाए जा रहे हैं। आवश्यकता पड़ने पर यात्री उसका उपयोग कर सकेंगे। कंट्रोल रूम को मैसेज मिलते ही स्थानीय पुलिस के सहयोग से कार्रवाई की जायेगी।

परिवहन एवं राजस्व मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आत्मनिर्भर भारत की कल्पना को मध्यप्रदेश में धरातल पर लाने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अगुवाई में राजस्व एवं परिवहन विभाग द्वारा आम-जनता की सुविधाओं के लिए अनेक योजनाओं को मूर्त रूप प्रदान किया जाएगा।

Related posts

एक अप्रैल से बंद होंगे विद्युत वितरण कम्पनी के कैश काउण्टर

Nishpaksh

देव श्री जागेश्वर नाथ जी मंदिर बांदकपुर में चल रहे 11 दिवसीय लघु रुद्रात्मक अभिषेक का आज हवन पूजन के साथ हो गया समापन

Nishpaksh

MP विधानसभा: अध्यक्ष पद के लिए रीवा के देवतालाब से विधायक गिरीश गौतम ने भरा नामांकन, अध्यक्ष बनना तय

Nishpaksh

Leave a Comment