Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्यग्रामीण भारतप्रादेशिकराजधानीराजनीति

तानसेन समारोह पहुँचे राज्य सभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, कलाकारों का किया सम्मान

Tansen Festival Gwalior

ग्वालियर की माटी पर जन्मे मूर्धन्य साधकों ने दुनियाभर में ग्वालियर का नाम रोशन किया ज्योतिरादित्य

ग्वालियर – पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया तानसेन समारोह में रविवार को आयोजित हुई सांध्यकालीन सभा में पहुँचे। उन्होंने समारोह में प्रस्तुति देने आए कलाकारों को पुष्पगुच्छ भेंटकर सम्मानित किया। साथ ही प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री प्रभुराम चौधरी और ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के साथ रसिक दीर्घा में बैठकर शास्त्रीय संगीत का आनंद लिया। इससे पहले उन्होंने संगीत सम्राट तानसेन की समाधि पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए।

यह भी पढ़ें -: रघुपति राघव राजाराम के संगीत के साथ संगीत के महाकुंभ ‘तानसेन समारोह’ हुआ शुरू

राज्यसभा सांसद श्री सिंधिया ने इस अवसर पर कहा कि ग्वालियर ऐसी पावन धरा है, जहाँ एक से बढ़कर एक मूर्धन्य कला साधकों ने जन्म लिया और पूरी दुनिया में ग्वालियर का नाम रोशन किया। उन्होंने सुर सम्राट तानसेन, बैजू बाबरा, हस्सू खां-हद्दू खां सहित ग्वालियर की माटी में जन्मे अन्य कला साधकों का जिक्र किया। और कहा ग्वालियर में संगीतकला को सदैव राजाश्रय मिला। राजा मानसिंह तोमर व महादजी सिंधिया सहित यहाँ के अन्य शासकों के समय संगीत कला खूब फली-फूली।

उन्होंने कहा वर्तमान में भी राज्य एवं केन्द्र सरकार द्वारा कला संस्कृति को बखूबी ढंग से बढ़ावा दिया जा रहा है। साथ ही कहा हम सबकी भी जिम्मेदारी है कि कला का सम्मान करें और उसके संरक्षण में सहभागी बनें। श्री सिंधिया ने यह भी कहा जिस प्रकार आत्मा के बिना शरीर के सभी अंग बेकार हैं उसी तरह कला-संगीत के बिना दुनिया वीरान होती है।

Related posts

नगरीय निकाय चुनाव: पथरिया नगर परिषद के 15 वार्डों में 89 नामांकन, हर वार्ड में लगभग 6 उम्मीदवार मैदान में

Nitin Kumar Choubey

एमपी के सीएम शिवराज का सस्पैंड ऑन द स्पॉट जारी, दिया निर्देश: मैं निवाड़ी कलेक्टर को हटाता हूं, मुझे कई शिकायतें मिली।

Nishpaksh

जीप की छत पर बैठ कर पहुंचते है गांव तक

Nishpaksh

Leave a Comment