Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्यक्राइमताज़ा खबरराजनीति

दमोह: विकास के नाम पर जिंदगी भर का रोग ना दे जाए यह सड़क !

दमोह: पथरिया में करोड़ों रूपए की लागत से बनाई जा रही सड़क वहाँ के बनेवासियों के लिए मुसीबत का सबब बन गई है।] मुख्य बाजार से होकर गुजरने वाले हैवी वाहनों की वजह से सड़क के किनारे बने मकान 24 घंटे धूल की चादर ओढ़े रहते हैं। । इस धूल भरे वातावरण की वजह से इन मकानों में रहने वाले लोगों को अब कई प्रकार की गंभीर बीमारियों का डर सताने लगा है। धूल से कई तरह की बीमारियां होने का खतरा होता है। धूल के कण नाक कान मुह के रास्ते हमारे शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं बहुत दिनों तक ऐसी स्थिति होने से स्वास संबंधी रोग, एलर्जिक रोगों की संभावना बढ़ने लगती है।

इस तरह का प्रभावित हो रहा है व्यापार
जिसकी वजह से व्यापारियों का बुरा हाल है। सड़क के ना बन पाने की वजह से निशान लगातार व्यापार में पिछड़ रहे हैं। कपड़ा व्यापारी प्रदीप साहू बताते हैं कि की धूल की वजह से उनकी दुकान में ग्राहक पहले की अपेक्षा कम आ रहे हैं। पहले लॉक डाउन ने व्यापार को चौपट कर दिया और अब इस संभावना योजना की वजह से ग्राहकों की कमी लगातार बनी हुई है। धूल की वजह से नया माल नहीं ला पा रहे हैं। यही हाल संजय चौराहा पर सब्जी की दुकान लगाने वाले तुलसी प्रजापति का भी है।तुलसी बताते हैं की धूल की वजह से चिंताएं समय से पहले ही अपनी ताजगी खो रही हैं उन्हें दिनभर शौचालय में रहने में मुश्किल हो रही है। तुलसी कहते हैं की धूल के बीच रहने से अच्छा है की दुकान बंद करके घर चले जाते हैं लेकिन क्या करें उनके पास सब्जी बेचने के अलावा दूसरा कोई धंधा भी नहीं है।जनरल स्पोर्ट्स स्टोर का धंधा करने वाले प्रीत राय बताते हैं की धूल की वजह से कीमती चीजों का नुक्सान हो रहा है,

आगे आया नगर के युवा
पथरिया नगर में संजय चौराहा से लेकर बांदा तिराहा तक अधूरी पड़े सड़क निर्माण कार्य को उठाने वाले युवाओं ने प्रशासन की मंशा पर सवाल खड़े किए हैं। “नगर के युवा साथी प्रशासन की लचर व्यवस्था को इसके जिम्मेदार मानते हैं। उनका कहना है कि अगर ऐसी ही स्थिति रही तो आने वाले समय में लोगों को स्वांस संबंधी कई गंभीर बीमारियां होने का खतरा हो सकता है। पेसे से शिक्षक नेता पटेल बताते हैं। हैं। की उन्होंने सड़क निर्माण को लेकर हर स्तर पर आवाज उठाई और धरने भी दिए हैं बावजूद इसके निरंकुश शासन के कानों में जू तक नहीं रेंगती हैं। ” पूरे मामले में क्षेत्रीय विधायक रामबाई सिंह ने अभी तक कोई सकारात्मक कदम नहीं उठाए हैं।

मामले में अभी तक क्या हुआ
सड़क निर्माण के मुद्दे को लगातार उठाने वाले युवा साथी अभिषेक राठौर बताते हैं की सड़क निर्माण को लेकर सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान के नाम एसडीएम को लिखित ज्ञापन दिया जा चुका है। जिसके बाद प्रशासन की ओर से 15 दिनों में काम शुरू करने का आश्वासन भी दिया गया था। लेकिन समय अवधि खत्म होने के बावजूद सड़क निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाए हैं। हमने नगर के व्यापारियों के साथ मिलकर 12 दिसंबर को संजय चौराहे पर एक दिवसीय धरना भी दिया था जिसमें व्यापारियों सहित नगर के सभी वर्ग के लोगों ने सहयोग किया था।

बुजुर्ग महिला की हो चुकी है मौत
अभिषेक राठौर बताते हैं की नगर की अधूरी सड़क ने एक बुजुर्ग महिला की सांसें तक छेड़ी है। दरअसल बरसात के मौसम में सड़क किनारे खोदी गई गली में गिरने से एक बुजुर्ग महिला की मौत हो गई थी। लोग इस घटना की वजह सड़क निर्माण के लिए खोदे गए गढ्ढों को मानते हैं। इस घटना के सीसीटीवी फुटेज को लोगों ने सोशल मीडिया पर खूब वायरल किया था। हालांकि इस घटना के बाद भी सड़क निर्माण कार्य में किसी भी प्रकार की गति देखने को नहीं मिली थी।

Related posts

मिशन अस्पताल मामला – भू–माफियाओं का सम्मान करने में प्रशासन व्यस्त, अतिक्रमण पर कार्रवाई करने नही है समय–हिंदू संगठन

Nitin Kumar Choubey

पंचायत सचिव, जीआरएस के कार्य पर वापस नहीं लौटने पर वित्तीय अधिकार लिए जाएंगे वापस – कलेक्टर

Nishpaksh

मध्यप्रदेश: ठंड में ठिठुर रहा मध्यप्रदेश, यहां से हो सकती है मावठा के एंट्री

Admin

Leave a Comment