Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
अन्य

निरीक्षण का उद्देश्य कमियां निकालना नहीं है बल्कि प्रबंधन करना है- मुकेश शुक्ला

दमोह : संभागायुक्त सागर संभाग मुकेश शुक्ला ने आज जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया, यहां की व्यवस्थाए देखी, मेटरनिटी वार्ड, आईसीयू, बच्चों के वार्ड, आईसीयू, गहन चिकित्सा इकाई सभी का अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि काफी बेहतर प्रबधन जिला चिक्त्सिमाला में की जा रही है। उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टर तरुण राठी, सिविल सर्जन और सीएमएचओ काफी मेहनत कर रहे हैं और रूचि से कार्य कर रहे हैं। श्री शुक्ला ने कहा कि यहां बेहतर प्रबंधन दिखाई दिया। उन्होंने कहा कि इन सब दृष्टिकोणों का उद्देश्य कमिया निकालना नहीं है, बल्कि प्रबंधन और बेहतर करना है।

दमोह
कमिश्नर मुकेश शुक्ला द्वारा जिला चिकित्सालय का निरीक्षण

उन्होंने कहा कि दमोह कलेक्टर निर्देश हैं कि नियोक्ता नेट, वेन्टिलेटर लगवाये जिससे बच्चों की मृत्यु दर बढ़ जाएगी, यह प्रयास भी किया जाएगा, हम जितना बेहतर से बेहतर हो सकेगा उसका प्रयास करेंगे साथ ही निरीक्षण का उद्देश्य यह ही होता है कि चीजों को। बेहतर कैसे किया जा सकता है। संभागायुक्त ने कलेक्टर से कहा कि नए साल में नियोक्ता नेट, वेन्टिलेटर यहां उपलब्ध हो जायें।

दमोह
नए साल में नियोक्ता नेट, वेन्टिलेटर की मिलेगा सौगात

संभागायुक्त श्री शुक्ला आज प्रात: लगभग 11:00 बजे जिला चिकित्सालय पहुंचे। अपने इस भ्रमण के दौरान यहां सर्वप्रथम पहुंचकर नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई, एन एच डी यू यूनिट, आईसीयू से जो बच्चे बाहर निकलते हैं, उन्हें यहां रखा जाता है का निरीक्षण किया जाता है। उन्होंने यहां पर सिविल सर्जन से कहा कि यहां कोई ईक्वामेंट की जरूरत हो तो बताएं, मुहैया कराई जाएगी। शुक्ला ने निकास इकाई का भी बाहर से ही अवलोकन किया और डॉक्टरों से इस संबंध में जानकारी ली।

दमोह
शिशु गहन चिकित्सा इकाई का किया अवलोकन

 भ्रमण के दौरान संभागायुक्त ऑपरेशन निर्माता पहुंचे, सिविल सर्जन डॉ। ममता तिमोरी और सीएमएचओ डॉ। संगीता त्रिवेदी ने विस्तार से उपलब्ध सुविधाओं आदि के संबंध में बताया। ब्लड बैंक पहुंचने पर डॉ दिवाकर पटेल ने ब्लड की उपलब्धता और यहां पर निशुल्क जांच के संबंध में बताया। डॉ। दिवाकर ने अभी तक यहां बताया कि 40 तरह की जांच हो रही है अब नई इकाई स्थापित हो जाने से 68 से 70 प्रकार की जांच होने लगेंगी जिसकी तैयारी अंतिम चरण पर चल रही है।

दमोह
डॉ। दिवाकर पटैल जानकारी देते हैं ^

संभागायुक्त कैजुअल्टी पहुंचकर हो पंजीयन को देखा और कर्मचारियों से इस संबंध में जानकारी ली। यहां से संभागायुक्त फीवर क्लीनिक, ओपीडी, आई ओपीडी और कोविड -19 और कोशल वार्ड पहुंचे। कोविद -19 आईसीयू में 14 रोगियों के रखने की व्यवस्था है जिसके संबंध में डॉ। दिवाकर पटैल ने पूरी जानकारी दी।

Related posts

हमें अपने आप को चौकन्ना रखने की जरूरत हैं, मास्क लगाएं, सावधानी में कमी नही होनी चाहिए -प्रहलाद पटैल

Nishpaksh

एकलव्य विश्वविद्यालय में होगा द्वितीय वरिष्ठ इतिहासकार राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

Nishpaksh

भारतीय जनता पार्टी के नेता बेलगाम हो गये- मनु मिश्रा

Nishpaksh

Leave a Comment