Nishpaksh Samachar
ताज़ा खबर
घटनाक्रम

दो माह पूर्व बीवी-बच्चों को मारकर घर में किया दफन, उसी जगह पर बैठकर खाता था खाना

 रतलाम में वीभत्स, डरावनी और रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना रविवार को सामने आई है। यहां रविवार को एक ऐसे ट्रिपल हत्याकांड का खुलासा हुआ जिसे जाकर आपकी रूह कांप उठेगी। वारदात शहर के कनेरी रोड की विंध्यवासिनी कॉलोनी की है जहां एक मकान से महिला व उसके दो मासूम बच्चों की लाशें बरामद हुई हैं। तीनों को करीब दो महीने पहले मारकर घर में ही दफन कर दिया गया था। हैरानी की बात तो ये है कि बीवी-बच्चों की जघन्य हत्या करने के बाद उन्हें घर में दफन करने वाला पिता इसी घर में बीवी-बच्चों की लाश के ऊपर बैठकर पार्टी भी करता था।
रविवार की शाम रतलाम एसपी अभिषेक तिवारी की अगुवाई में एक टीम विंध्यवासिनी कॉलोनी में रहने वाले सोनू तल्वाड़े के घर पहुंची और जब घर के अंदर खुदाई की फर्श के नीचे से एक दो नहीं बल्कि तीन-तीन लाशें मिलीं। एक लाश महिला की थी और दो शव बच्चों के, घर में एक के बाद एक निकले तीनों शवों को देखकर पुलिस के भी रोंगटे खड़े हो गए। हालांकि पुलिस ने अभी इस मामले में अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी है लेकिन बताया जा रहा है कि घर में मिले तीनों शव सोनू की पत्नी व साल के मासूम बेटे व 7 साल की मासूम बेटी के हैं। जिन्हें सोनू ने मारकर घर में ही दफन कर दिया था और बीते करीब दो महीनों से घर में बीवी-बच्चों की दफन लाशों के ऊपर बैठकर खा पी रहा था।

दरअसल विंध्यवासिनी कॉलोनी में रहने वाले सोनू तल्वाड़े के बीवी बच्चे करीब दो महीने से नजर नहीं आ रहे थे। आसपास के लोगों ने जब भी सोनू से इसके बारे में पूछा तो वो बीवी-बच्चों के रिश्तेदारों के यहां जाने की बात कहता था। बीते दिनों किसी से पुलिस को इस बात की जानकारी मिली पुलिस को पता चला कि सोनू के बीवी बच्चे गायब हैं या फिर उनकी हत्या हो चुकी है। पुलिस ने मामले की गोपनीय तरीके से जांच की तो सोनू की गतिविधियां संदिग्ध नजर आईं। रविवार शाम करीब 6 बजे एसपी अभिषेक तिवारी की अगुवाई में शहर के सभी थाना प्रभारी, भारी संख्या में पुलिस बल के साथ एफएसएल, फोरेसिंक एक्सपर्ट आदि विंध्यवासिनी कॉलोनी में पहुंचे। यहां सोनू पिता राजेश तल्वाड़े के मकान में घुसकर खुदाई शुरू की तो घर में फर्श के नीचे से सोनू की पत्नी निशा व दोनों मासूम बच्चों के शव बरामद हुए। सोनू ने निशा से दूसरी शादी की थी और ये भी पता चला है कि कुल्हाड़ी से हत्या करने के बाद निशा व दोनों बच्चों के शव अपने साथी बंटी कैथवार की मदद से घर में दफन कर दिए थे।

Related posts

राज्य स्तरीय सीनियर महिला हॉकी टूर्नामेंट कल से हो रहा है प्रारंभ

Nishpaksh

नारद की नजर : 6 साल से अंधेरे में डूबा छात्रवास, बच्चें नही ले रहे एडमिशन

Nitin Kumar Choubey

गैर ईसाई लोगों ने धर्मांतरण के आरोपी लाल बंधुओ के समर्थन में दिया ज्ञापन, तो हिंदू संगठन ने अंबेडकर चौक पर लाल के दलालों की निकाली अर्थी

Nishpaksh

Leave a Comment